कल दिखेगा आंशिक सूर्यग्रहण, जानें क्या पड़ेगा प्रभाव और कैसे करें बचाव?

इस ग्रहण का मुख्य असर दक्षिण ऑस्ट्रेलिया की तरफ होगा. सूर्य हमारे व्यक्तित्व का मालिक होता है, ऐसे में सूर्य ग्रहण के दौरान कई जरूरी बातों का ध्यान रखना होता है.

नई दिल्ली: कल आंशिक सूर्यग्रहण है. ये इस साल का दूसरा सूर्यग्रहण होगा. दिल्ली में 7.18 मिनट से 08.13 मिनट तक सूर्य ग्रहण रहेगा. इस ग्रहण का मुख्य असर दक्षिण ऑस्ट्रेलिया की तरफ होगा. सूर्य हमारे व्यक्तित्व का मालिक होता है, ऐसे में सूर्य ग्रहण के दौरान कई जरूरी बातों का ध्यान रखना होता है.

सूर्य ग्रहण पर क्या पड़ेगा प्रभाव ?

  • कुश की घास अपने पास रखकर लेटें, आराम मिलेगा.

  • ग्रहण के समय में कुछ खाएं नहीं.

  • घर में बीमार महिलाएं, अस्वस्थ महिलाएं और बुजुर्गों पर ये नियम लागू नहीं होता है.

  • दैवीय आपदा की संभावना है.

  • आतंकी घटना घट सकती है.

सूर्य ग्रहण से बचने के लिए क्या करें उपाय ?

  • आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें.

  • सूर्य को जल देना शुरू करें.

  • रविवार को अनाज का दान देना शुरू करें.

  • बुजुर्गों को प्रणाम कर उनसे सलाह-मशविरा लें.

  • जो लोग आपसे बुद्धी, कुशलता और सामाजिक प्रतिष्ठा में बेहतर है उनके साथ रहना शुरू करें.

  • मंगल को प्रभावित करेगा.

कुंडली में सूर्यग्रहण योग से क्या होता है?

  • कुंडली में सूर्यग्रहण योग होने पर मशीनरी चीज सूट नहीं करती.

  • कुंडली में सूर्यग्रहण योग होने व्यक्ति बार-बार गलती करता चला जाता है.

  • कुंडली में सूर्यग्रहण योग होने पर मशीन से संबंधी कार्य में अनेक बाधाएं आती हैं.

  • मशीन संबंधी क्षेत्र में प्रतिष्ठा की हानि होती है.

  • सूर्य कमजोर या कुपित होने पर व्यक्ति को अधिक नुकसान का सामना करना पड़ता है.

क्याहै सूर्य ग्रहण का रहस्य ?

  • सूर्य हमारे व्यक्तित्व का मालिक होता है.

  • सूर्य हमारे आत्मबल का कारक होता है.

  • सूर्य हमारे पिता और प्रतिष्ठा का कारक होता है..

  • सूर्य के खराब स्थिति में होने पर जीवन में प्रेम का सुख नहीं मिलेगा.

  • सूर्य के खराब स्थिति में होने पर प्रतिष्ठा की हानि होगी.

  • सूर्य के खराब स्थिति में होने पर मकान का सपना पूरा नहीं होगा.

  • सूर्य खराब हो तो घर में पशु-पक्षी वास नहीं करेंगे.

  • सूर्य को विद्या का स्वामी भी कहा जाता है.

  • सूर्य की स्थिति खराब हो तो विद्या के क्षेत्र में अड़चनें आती हैं.

  • सूर्य की स्थिति खराब होने पर व्यक्ति बातों की गहराई को जल्दी नहीं समझ पाता.

  • सूर्य कमजोर हो तो व्यक्ति जल्द तनाव लेने लगता है.

  • सूर्य कमजोर हो तो व्यक्ति संघर्ष नहीं कर पाता है.

  • सूर्य के क्रूर होने की स्थिति में वाणीदोष संबंधी दिक्कतें आती हैं.

  • सूर्य ग्रहण के दिन जन्में लोग तरक्की के बाद पीछे की ओर आ जाते हैं.

  • पूरा जीवन खुद को स्थापित करने में लग जाता है.

  • ऐसे लोगों के रिश्ते स्थाई नहीं होते हैं.

  • ऐसे लोगों की विद्या स्थाई नहीं होती है.

  • समय रहते सूर्य को मजबूत कर लेने से कई परेशानियां दूर हो सकती हैं.
संदर्भ पढ़ें
पढ़ें पूरी कहानी UC News पर
दोस्तों संग शेयर करें
हॉट कमैंट्स
और कॉमेंट्स पढ़े
--
नहीं
हां
विषय
# सरकार का ऐलान- रिहा होंगे 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले कैदी, क्या इस कदम से कैदियों में सुधार आएगा ?
केंद्र सरकार ने महात्‍मा गांधी की 150वीं जयंती पर कैदियों को विशेष माफी देने का ऐलान किया है। आपकी क्या राय है, क्या ये सही है?
604 / 118,432
देखो लड़के ने किया लड़की को पागल