आखिर क्यों, 35 रुपए का रिचार्ज ना करवाने से बंद हो जाएगा मोबाइल नंबर, जानिए

क्या आप जातने हैं कि जहां एक तरफ कम पैसे में ज्यादा डेटा देने की होड़ मची हुई है वहीं दूसरी तरफ देश के 25 करोड़ मोबाइल यूजर्स को लिए बुरी खबर आई है। हालांकि, इसके बाद भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने इसका विरोध किया है। ट्राई ने साथ दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनियों से कहा है कि वे समुचित प्री-पेड बैलेंस रखने वाले ग्राहकों की सेवा को तुरंत बंद न करें।

दरअसल, एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया ने हर माह एक निश्चित सीमा से कम राशि खर्च करने वालों के मोबाइल कनेक्शन बंद करने का प्लान बनाया है। ट्राई ने कंपनियों द्वारा ग्राहकों को हर महीने अनिवार्य तौर पर रीचार्ज करने के लिए कहने को काफी गंभीरता से लिया है।

नियामक को ग्राहकों से शिकायत मिली थी कि उन्हें टेक्स्ट मैसेज भेजकर कहा जा रहा है कि सेवा जारी रखने के लिए वे अपने प्री-पेड अकाउंट को अनिवार्य तौर पर रीचार्ज करें। ग्राहकों का कहना है कि उनके अकाउंट में समुचित बैलेंस होने के बाद भी उन्हें मैसेज भेजे जा रहे हैं।

ट्राई के चेयरमैन आरएस शर्मा ने कहा कि टैरिफ और प्लान के मामले में आमतौर पर हम हस्तक्षेप नहीं करते हैं। लेकिन यदि अकाउंट में समुचित बैलेंस होता है और इसके बाद भी ग्राहकों को कहा जाता है कि सेवा बंद की जा रही है, तो यह सही नहीं है। इस बारे में मंगलवार को दूरसंचार कंपनियों को निर्देश भेजा जा चुका है।

ट्राई ने इस सप्ताह के शुरू में कंपनियों के साथ एक बैठक की थी और फिलहाल वह मामले की समीक्षा कर रहा है। इस दौरान उसने कंपनियों को कहा है कि वे ग्राहकों को स्पष्ट और पारदर्शी तरीके से सूचित करें कि वर्तमान प्लान की वैलिडिटी किस तिथि को समाप्त होगी और किस प्रकार से ग्राहक उपलब्ध प्लान ले सकते हैं, जिसमें ग्राहकों के उपलब्ध प्री-पेड बैलेंस का उपयोग करते हुए न्यूनतम रीचार्ज प्लान लेना भी शामिल हो।

ट्राई ने कंपनियों को कहा है कि वे ग्राहकों को तत्काल सभी सूचनाएं एसएमएस के जरिए भेजें और इसमें 72 घंटे से अधिक की देरी न हो। कंपनियों को भेजे गए निर्देश में ट्राई ने कहा कि तब तक के लिए उन ग्राहकों की सेवा समाप्त नहीं की जानी चाहिए, जिनके प्री-पेड अकाउंट में न्यूनतम रीचार्ज राशि के बराबर बैलेंस हो।दो बड़ी दूरसंचार कंपनियों भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया ने न्यूनतम मासिक रीचार्ज प्लान की घोषणा की है, जिसकी शुरुआत 35 रुपए से होती है।

यह है पूरा मामला

वोडाफोन, आइडिया और भारती एयरटेल अपने ऐसे ग्राहकों के मोबाइल कनेक्शन को बंद करने की योजना बना रहे हैं, जो हर महीने नेटवर्क पर 35 रुपये से कम खर्च करते हैं। अगर ऐसा हुआ तो इन कंपनियों के करीब 20 करोड़ 2जी उपभोक्ताओं का मोबाइल कनेक्शन बंद किया जा सकता है। इस दायरे में एयरटेल के करीब 10 करोड़ उपभोक्ता हैं वहीं वोडाफोन, आइडिया के करीब 15 करोड़ उपभोक्ताओं का कनेक्शन बंद हो सकता है।

कुछ ग्राहकों ने दावा किया है कि उन्हें इसके लिए मैसेज भी भेजे जा रहे हैं। लगातार मिल रही शिकायतों के बाद अब ट्राई ने इस मामले में टेलिकॉम कंपनियों से बात की है।

The content does not represent the perspective of UC
READ SOURCE
Read Full Story in UC News
Share to your friends
Hot Comments
Read More Comments
--
No
Yes
Hot and sizzling photoshoot of Bengali Actress