कानपुरः हड़ताली लेखपालों पर कार्रवाई जारी, 26 निलंबित

कई चेतावनी के बाद काम पर नहीं लौटे लेखपालों के खिलाफ कार्रवाई शुरू हो गई है। बुधवार को एसडीएम सदर ने जिलाध्यक्ष समेत तीन को निलंबित किया तो गुरुवार को सभी तहसीलों में हड़ताली लेखपालों के खिलाफ कार्रवाई की गई। सदर, घाटमपुर, बिल्हौर और नर्वल तहसील में कुल 26 लेखपालों को निलंबित कर दिया गया। इनमें से ज्यादातर लेखपाल संघ के पदाधिकारी हैं। उधर, सभी एसडीएम ने दावा किया है कि काफी संख्या में लेखपालों ने काम पर लौटने का लिखित आश्वासन दिया है। लेखपाल संघ महामंत्री प्रेमशंकर तिवारी ने हड़ताल जारी रखने का ऐलान किया है। कहा है कि ऐसी कार्रवाई से लेखपाल डरने वाले नहीं हैं।
उप्र लेखपाल संघ के आवाहन पर सभी लेखपाल तीन जुलाई से आठ सूत्रीय मांगों को लेकर कलमबंद हड़ताल कर रहे हैं। तहसील मुख्यालयों पर धरना प्रदर्शन चल रहा है। इसी बीच शासन ने लेखपालों की हड़ताल को निषिद्ध घोषित कर दिया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हड़ताल से वापस काम पर न लौटने वाले लेखपालों के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए। इसी के तहत एसडीएम सदर ने जिलाध्यक्ष अजय सिंह कुशवाहा, तहसील संघ के पदाधिकारी आलोक दुबे, सुजीत सिंह कुशवाहा को बुधवार को निलंबित कर दिया। गुरुवार को भी संघ के पदाधिकारी हुवेश शुक्ला, सूर्यभान सिंह, शैलेंद्र सिंह, सर्वेश यादव, सनत मिश्रा, अरविंद कुमार शुक्ला को भी निलंबित कर दिया है। एसडीएम सदर संजय कुमार ने बताया कि शासन ने इस हड़ताल को अवैध करार दिया है। इसी के तहत कार्रवाई की जा रही है। गुरुवार को कई लेखपालों ने काम पर लौटने का पत्र दिया है। उन्होंने शुक्रवार को नियमित रूप से काम पर लौट आएंगे। 14 ट्रेनी लेखपालों को बर्खास्तगी का नोटिस दिया था। इसके जवाब में लेखपालों ने सभी अपरिहार्य कार्य शुरू करने की सूचना दी है।
एसडीएम नर्वल डीके सिंह ने तहसील संघ के राजीव अवस्थी, मोहित सचान, धर्मेंद्र सिंह, विजय मल्होत्रा, अतुल वर्मा, राजेश राणा, सतीश कुमार, पवन प्रकाश, कमलेश पांडेय, शैलेंद्र द्विवेदी समेत 10 को निलंबित कर दिया है। इसके अलावा 25 ट्रेनी लेखपालों को बर्खास्तगी का नोटिस दिया गया है। इसके बाद भी लेखपालों की हड़ताल खत्म नहीं हुई है।
एसडीएम घाटमपुर मीनू राणा ने बताया कि लेखपाल संघ के जिला महामंत्री प्रेमशंकर त्रिपाठी, तहसील अध्यक्ष रामकुमार श्रीवास्तव व मंत्री नवनीत मिश्रा को निलंबित कर दिया गया है। हड़ताल में शामिल ट्रेनी लेखपालों को बर्खास्तगी का नोटिस दिया गया है।
एसडीएम बिल्हौर विनीत कुमार सिंह ने बताया कि हड़ताल से वापस न लौटने पर लेखपाल संघ के चार पदाधिकारियों ज्ञान प्रकाश शुक्ला, आनन्द प्रकाश, शैलेन्द्र कुमार व नरेन्द्र तिवारी को निलंबित कर दिया गया है।

ये कंटेंट UC के विचार नहीं दर्शाता है
संदर्भ पढ़ें
पढ़ें पूरी कहानी UC News पर
दोस्तों संग शेयर करें
हॉट कमैंट्स
और कॉमेंट्स पढ़े
--
नहीं
हां
छज्जे पर खड़े होकर लोग देख रहे थे जुलूस, तभी गिर गया छज्जा